Intimacy: हर रिश्ते में जरूरत होती है इन 5 चीजों की

इंटीमेसी का मतलब सिर्फ शारीरिक रूप से नजदीक होना नहीं होता, बल्कि एक-दूसरे के साथ भावनात्मक और मानसिक रूप से नजदीक होना भी होता है। अक्सर इंटिमेसी दिखाने के अलग अलग प्रकार देखे गए हैं, आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही प्रकार इंटिमेसी के इस ब्लॉग के जरिए।

Aastha Dhillon
16 Dec 2022
Intimacy: हर रिश्ते में जरूरत होती है इन 5 चीजों की

Types Of Intimacy

Intimacy: आमतौर पर सुनने को मिलता है कि रिश्ते में इंटीमेसी से प्यार बढ़ता है और रिश्ता मजबूत होता है। लेकिन, अक्सर लोग इंटीमेसी को समझ नहीं पाते हैं। ऐसे में सवाल उठता है कि आखिर इंटीमेसी है क्या? एक दूसरे के प्रति चाहत की भावना को ही इंटिमेसी का नाम दिया गया है। इंटीमेसी का मतलब सिर्फ शारीरिक रूप से नजदीक होना नहीं होता, बल्कि एक-दूसरे के साथ इमोशनल और मानसिक रूप से नजदीक होना भी होता है। अक्सर इंटिमेसी दिखाने के अलग अलग प्रकार देखे गए हैं, आइए जानते हैं कुछ ऐसे ही प्रकार इंटिमेसी के इस ब्लॉग के जरिए।

आइए जानते हैं क्या होते हैं इंटिमेसी के अलग-अलग प्रकार:

1. फिजिकल इंटिमेसी (Physical Intimacy)

अक्सर फिजिकल इंटिमेसी को सेक्स समझा जाता है परंतु ऐसा नहीं है। फिजिकल इंटिमेसी का अर्थ है अपने पार्टनर की बिल्कुल नजदीक आ जाना। फिजिकल इंटिमेसी के अंदर अपने पार्टनर को टच करना, हग करना अथवा ऐसी ही सामान्य चीजें आती हैं। Sex फिजिकल इंटिमेसी का एक भाग है परंतु उसे फिजिकल इंटिमेसी बोलना पूर्ण रूप से गलत होगा। फिजिकल इंटिमेसी में हाथ पकड़ना जैसी सामान्य चीजें भी आ जाती है।

2. इमोशनल इंटिमेसी (Emotional Intimacy)

इमोशनल इंटिमेसी का अर्थ अपने पार्टनर के साथ अपने मन की बात करना। इसके अंदर आता है अपने मन की बातें, अपने डर को शेयर करना। इमोशनल इंटिमेसी अंदर अपने पार्टनर के साथ खोलने के बारे में बता सकते हैं।

3. इंटेलेक्चुअल इंटिमेसी (Intellectual Intimacy)

इंटेलेक्चुअल इंटिमेसी का अर्थ होता है जब आप अपने पर्सपेक्टिव, अपने नजरिए अपने पार्टनर के साथ शेयर करें। आजकल के रिलेशनशिप्स में इंटेलेक्चुअल इंटिमेसी की कमी देखी गई है परंतु यह फिजिकल और इमोशनल इंटिमेसी जितना ही जरूरी है। इंटेलेक्चुअलिटी इंटिमेसी ऐसा माहौल बनाता है जहां आप खुल के अपने विचारों को रख सकते हैं।

4. एक्सपीरियंशियल इंटिमेसी (Experiencial Intimacy)

जब हम अपने पार्टनर के साथ किसी एडवेंचर, कोई एक्सपीरियंस लेते हैं तो बाद में यही जोक बन जाता है या खुद के लिए एक याद बनकर रह जाता है। एक्सपीरियंस इंटिमेसी का अर्थ ही है जब हम ऐसे कुछ यादें या ऐसे कुछ जोक्स अपने लिए अपने पार्टनर के साथ बनाते हैं। इससे रिश्ता और भी ज्यादा मजबूत होता है।

5. स्प्रिचुअल इंटिमेसी (Spritual Intimacy)

इंटिमेसी का अंतिम प्रकार होता है और इसमें पार्टनर के साथ स्पिरिचुअलिटी को समझा जाता है तथा एक दूसरे के साथ साझा किया जाता है। एक दूसरे के साथ मेडिटेशन करना या सामान्य इंटरेस्ट होना स्पिरिचुअल इंटिमेसी का ही पार्ट है।

Read The Next Article