Advertisment

Brain Fog: क्या है ब्रेन फोग और क्या हैं इसके कारण

ब्रेन फोग मेंटल हेल्थ से जुड़ी प्रॉब्लम है जिसमें इंसान को भूलने की बीमारी, फोकस और कंसंट्रेशन कम होना, थके-थके रहना या दिमाग़ में क्लैरिटी ना आना शामिल हैं। इसमें इंसान के विचार क्लियर ना हो कर फॉगी या धुंदले रहते हैं।

author-image
Mandie Panesar
New Update
Brain Fog (Pinterest).png

What Is Brain Fog And Its Causes?(Image Credit: Pinterest)

What Is Brain Fog And What Are Its Causes: ब्रेन फोग मेंटल हेल्थ से जुड़ी प्रॉब्लम है जिसमें इंसान को भूलने की बीमारी, फोकस और कंसंट्रेशन कम होना, थके-थके रहना या दिमाग़ में क्लैरिटी ना आना शामिल हैं। इसमें इंसान के विचार क्लियर ना हो कर फॉगी या धुंदले रहते हैं, जिससे उन्हें प्लानिंग करने या नार्मल डिसिशन लेने में भी समस्या होती है। 

Advertisment

क्या है ब्रेन फोग और क्या हैं इसके कारण

ब्रेन फोग के आम कारण ओवर्थिंकिंग, स्ट्रेस या प्रॉपर नींद पूरी ना करना हो सकते हैं। ब्रेन फोग होने के कारण इंसान काफ़ी कन्फ्यूज्ड रह सकता है और यह मेंटल फटीग से जुड़ा हुआ हो भी सकता है। हम आज ब्रेन फोग के ख़ास 5 कारणों के बारे में बात करेंगे।

1. हार्मोनल बदलाव 

Advertisment

इंसान में होने वाला हार्मोनल इम्बैलेंस भी ब्रेन फोग का कारण बन सकता है। हार्मोनल बैलेंस ना होने के कारण मेमोरी लैप्स और कंसंट्रेशन इफ़ेक्ट हो सकती है। इसके साथ-साथ याददाश्त क्मज़ोर होना और दिमाग़ी इंटेलिजेंस कम होना भी इसमें शामिल है। ऐसी कंडीशन को ब्रेन फोग कहते हैं।

2. ⁠दिमाग़ी काम ज़्यादा करना

कई बार जब हम दिमाग़ी काम ज़्यादा कर लेते हैं और सो नहीं पाते, तब हमें ब्रेन फोग की समस्या इफ़ेक्ट कर सकती है। इसका ख़ास कारण दिमाग की थकावट और नींद का पूरा ना होना हो सकता है। ऐसी सिचुएशन से हमें फ्रस्ट्रेशन हो सकती है और इसके लौंग-टर्म इंपैक्ट से बचने के लिए ज़रूरी है कि आप अपने काम से ब्रेक लेकर थोड़ी रेस्ट करें और दिमाग़ को आराम दें।

Advertisment

3. ⁠दिमाग़ी स्ट्रेस

अगर आपके दिमाग़ पर कोई स्ट्रेस है जो कि आपको लगातार परेशान कर रहा है और इसकी वजह से आपका ख़ान-पान और नींद पर इंपैक्ट पड़ रहा है तो आपको ब्रेन फोग की समस्या हो सकती है। अगर आप कंप्यूटर लैपटॉप पर अपना ज़्यादा समय बिता रहे हैं और नींद भी पूरी नहीं कर रहे तो आपका फोकस और थिंकिंग प्रोसेस इंपैक्ट होगी और आप क्लियर डिसिशनस नहीं ले पायेंगे।

4. ⁠पेरीमीनोपॉज

Advertisment

अगर आप 40 से 45 साल के बीच की महिला हैं तो आपको पेरीमीनोपॉज या मीनोपॉज के लक्षण हो सकते हैं और इसकी वजह से आपको कंसंट्रेशन में दिक़्क़त हो सकती है। इसकी वजह से आपकी मेंटल क्लैरिटी भी कम हो सकती है। आपको मूड चेंज्स, हॉट फ्लैशेस, नाईट स्वेट आदि प्रॉब्लम्स भी मीनोपॉज की वजह से हो सकती हैं।

5. ⁠न्यूट्रीशंस की कमी

कुछ विटामिन और मिनरल्स की कमी से आपको ब्रेन फोग हो सकती है। विटामिन B, विटामिन D, आयरन और ओमेगा-3 फैटी एसिड्स की कमी से आपका दिमाग़ अपनी क्लैरिटी खो सकता है। इसके इलावा मैग्निशियम, जिंक और फ़ोलेट भी आपकी अच्छी मेंटल हेल्थ के लिए ज़रूरी न्यूट्रीशंस हैं। न्यूट्रीशंस की कमी से आपका मूड लो, थकावट और चिड़चिड़ापन भी रह सकता है।

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

Brain Fog
Advertisment