Advertisment

Shoe Wearing: हल्के तले और एक से ज़्यादा होने चाहिएं घर पर जूते

blog | fitness: जाड़ों में हम अक्सर जूते पहनते हैं लेकिन गर्मियों में हम जूते पहनना छोड़ देते हैं। गर्मियों में जूते पहनने पर खासतौर से सावधानी बरतनी होती है। ऐसा इसलिए कि गर्मियों में पसीना बढ़ जाता है।

author-image
Prabha Joshi
New Update
जूते

अपने पास हमेशा एक से ज्यादा जोड़ी जूते रखें

Shoe Wearing: जब भी हम कभी बाहर जा रहे होते हैं तो हमारे पैरों को किसी प्रोटेक्शन की जरूरत होती है। हम बाहर जाने के लिए चप्पल, सैंडल और जूतों का प्रयोग करते हैं। कहीं भी किसी भी काम में जूतों का प्रयोग बहुत लाभदायक है।

Advertisment

अन्य किसी पहनने की चीज के स्थान पर जूते का प्रयोग यदि किया जाए तो हमारे पैरों को एक अलग आराम मिलता है। लेकिन जूते का प्रयोग किस तरह किया जाए यह भी जानना जरूरी है।

जूतों से जुड़ी महत्वपूर्ण बातें क्या हैं

आज हम बताने जा रहे हैं जूतों से जुड़ी कुछ बातें जो हर एक को जानना जरूरी है। आइए जानें :-

Advertisment
  • 2 जोड़ी जूते : हमेशा अपने पास 2 जोड़ी जूते या इससे ज्यादा रखें। ऐसा इसलिए कि रोजाना एक ही जोड़ी जूते पहनने से हमारे पैरों में बैक्टीरियल इनफेक्शंस होने की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। 2 जोड़ी जूते या इससे ज्यादा में बदल-बदल के जूते पहनने होते हैं।
  • सुखाना : 2 जोड़ी जूतों या इससे ज्यादा में जूतों को हवा या धूप में अच्छे से सुखाएं। बदल-बदल कर जूते पहने। पर्याप्त सूखे हुए जूतों को पहनने से हमारे पैरों में किसी भी तरह की बीमारी नहीं होती।
  • एड़ी : जूतों को पर्याप्त हवा न देने से या न सुखाने से कई बार एड़ी में दिक्कतें पैदा हो जाती हैं। इसके साथ ही ऐसे जूतों का चुनाव करें जिनसे एड़ी पर ज्यादा जोर ना पड़े और चलने में आसानी हो।
  • तला : जूते खरीदने के दौरान इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि उनका तला भारी न हो। ऐसा इसलिए कि भारी तले के जूते पहनने से घुटनों और जोड़ों में दर्द की संभावना बढ़ जाती है। पैरों में अनावश्यक वजन बढ़ जाता है।
  • बिवाइयां : जूतों के प्रयोग से हमारी एड़ियां बची रहती हैं। उनमें बिवाइयों से जुड़ा खतरा दूर हो जाता है। इसके साथ ही जूतों के प्रयोग से पैर, धूल से सुरक्षित रहते हैं, जिससे पैरों में बीमारियां नहीं होतीं। 
  • गर्मियों : गर्मियों और जाड़ों दोनों में जूतों का प्रयोग लाभदायक है। गर्मियों में जूते के प्रयोग से पैरों की त्वचा काली नहीं पड़ती और सुरक्षित रहती है। 
  • सुरक्षा : जूतों के प्रयोग से आप दौड़-भाग के साथ आसानी से कोई भी काम कर सकते हैं। चप्पल या सैंडल के स्थान पर जूतों के प्रयोग करने से उबड़-खाबड़ या असमतल जमीन में दिक्कत नहीं आती। इससे पैरों की मसल्स में कोई पेन नहीं होता। फ्लैक्सिबिलिटी के साथ जूतों में चला जा सकता है।

इस तरह आप देख सकते हैं कि जूतों का प्रयोग हमें कितनी सावधानी के साथ करना होता है। हमने यह भी देखा कि जूते हमेशा एक से ज्यादा जोड़ी में रखने चाहिएं और उन्हे हवा में अच्छे से रोजाना सुखाना चाहिए।

Shoe Shoe Wearing धूप हवा जूतों जूते
Advertisment