Advertisment

Respect Women: महिलाओं की जिम्मेदारियों की नहीं ब्लकि उनकी खुद की रिस्पेक्ट करें

आप में से बहुत सारे लोग औरत की रिस्पेक्ट इस बात से करते हैं कि वह दूसरों के लिए कितना कर रही है न कि इसके लिए कि वो खुद के लिए कितना जीती है। हमें वो औरतें पसंद नहीं हैं जो दूसरों से पहले खुद को रखती हैं।

author-image
Rajveer Kaur
New Update
Being Yourself

Respect Women For Being Yourself: चलिए आज हम आपसे एक सवाल पूछते हैं- आपको कौन सी औरत ज्यादा अच्छी लगती है जो जिंदगी को अपने तरीके के साथ जीती हैं या फिर जो हर समय दूसरों को खुश करने में लगी रहती है। आप में से बहुत सारे लोगों जवाब दूसरा ही होगा क्योंकि हम औरत की रिस्पेक्ट इस बात से करते हैं कि वह दूसरों के लिए कितना कर रही है न कि इसके लिए कि वो खुद के लिए कितना जीती है। हमें वो औरतें पसंद नहीं हैं जो दूसरों से पहले खुद को रखती हैं, जिनके पास हर बात का जवाब होता है, जो अपने आप को दुख नहीं पहुंचाती और अपनी फिजिकल और मेंटल वेलबीइंग का ध्यान रखती है। आइये आज इस विषय पर बात करते हैं कि क्यों औरतों के रिस्पेक्ट उनके काम से की जाती है।

Advertisment

महिलाओं की जिम्मेदारियों की नहीं ब्लकि उनकी खुद की रिस्पेक्ट करें

हम अपने आस-पास कितनी सारी महिलाओं को देखते हैं। इनमें आपकी मदर भी शामिल हो सकती है जिन्होंने अपना सारा जीवन दूसरों के लिए दिया है। उन्होंने कभी अपनी पसंद के कपड़े पहनने, खाना खाने और बाहर घूमने के बारे में नहीं सोचा। हमेशा सब कुछ दूसरों की पसंद का ही किया। जब ऐसी औरतों की बात होती है तो उन्हें बहुत तारीफ मिलती है। देखिए, इस औरत ने अपनी सारी जिंदगी दूसरों के बारे में ही सोचा है औरत का तो काम ही है। ऐसी औरत ही अपने घर को सींच कर रख सकती है। ऐसे ही परिवार चलते हैं, अगर अपना सोचने बैठ जाओ तो न परिवार चलते हैं और न ही बच्चों को अच्छी परवरिश मिलती है। इसका मतलब है हमने औरतों के त्याग को नॉर्मलाइज कर दिया है और उनकी पहचान भी उसी से ही बना दी है।

हमारे समाज में माँ को एक बहुत बड़ा दर्जा दिया जाता है। उसे भगवान के समान माना जाता है। अगर एक मां बच्चे के साथ-साथ अपने बारे में भी सोच रही है जैसे उसे लगता है कि और मुझे आराम की जरूरत है तो क्या वह बुरी बन जाती है या फिर वह कम माँ हो जाती है?

अब यह ऐसा समय है कि हमें यह सोचने की जरूरत है कि हम महिलाओं की रिस्पेक्ट क्यों करते हैं क्योंकि हमने तो सदियों से उन्हें, उनके कम के लिए जज किया है। अगर वह सब की हाँ में हां करती है, कभी किसी को मना नहीं करती, हर समय दूसरों के लिए तैयार रहती है, कभी मुख से यह नहीं बोलती कि मैं थक गई हूं तो हमें वो औरत ज्यादा अच्छी लगती है। अगली बार आप किसी औरत को उसके काम से जज करने से पहले आप कभी सिर्फ उसके लिए ही रिस्पेक्ट रख कर देखना तो उस औरत का प्यार आपके लिए ज्यादा बढ़ जाएगा क्योंकि आप उसे इसलिए पसंद करते हैं जो वो है लेकिन वैसे नहीं, जैसे आप उसे चाहते हैं। इस बात में बहुत फर्क है।

Respect Women For Being Yourself Respect Women
Advertisment