Advertisment

Relationship: एक टॉक्सिक रिश्ते के संकेत जो आपको पता होने चाहिए

लेकिन कई बार रिश्ते इतने जटिल हो जाते हैं कि वो हमारी खुशियों को छीन लेते हैं और हमारा आत्मविश्वास कमज़ोर कर देते हैं। ऐसे रिश्तों को ही हम टॉक्सिक रिश्ते कहते हैं। ये रिश्ते हमारे मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य पर गहरा असर डालते हैं। 

author-image
Anusha Ghosh
New Update
png 53

(Verywell Mind)

Relationship: किसी भी रिश्ते में प्यार, सम्मान और आपसी समझ होना बहुत ज़रूरी होता है। लेकिन कई बार रिश्ते इतने जटिल हो जाते हैं कि वो हमारी खुशियों को छीन लेते हैं और हमारा आत्मविश्वास कमज़ोर कर देते हैं। ऐसे रिश्तों को ही हम टॉक्सिक रिश्ते कहते हैं। ये रिश्ते हमारे मानसिक और भावनात्मक स्वास्थ्य पर गहरा असर डालते हैं। 

Advertisment

एक टॉक्सिक रिश्ते के संकेत जो आपको पता होने चाहिए

1. नियंत्रण की जंग

एक स्वस्थ रिश्ते में दोनों पार्टनर एक-दूसरे को अपना स्पेस देते हैं और ज़िन्दगी के फैसले आपसी सहमति से लिए जाते हैं। मगर टॉक्सिक रिश्ते में एक पार्टनर दूसरे पर अपना दबदबा बनाए रखने की कोशिश करता है। वो आपके पहनावे, दोस्तों, यहां तक कि आपकी करियर को भी नियंत्रित करने की कोशिश कर सकता है। आपको हमेशा ये एहसास होता रहता है कि आपकी हर चीज़ पर उसकी नज़र है।

Advertisment

2. आपसी सम्मान का अभाव

सम्मान हर रिश्ते की नींव होता है। लेकिन टॉक्सिक रिश्तों में एक पार्टनर दूसरे का अपमान करता है, उसकी बातों को तवज्जो नहीं देता और हर बात पर उल्टा सीधा बोलता है। वो आपको लोगों के सामने नीचा दिखाने से भी नहीं चूकता। इस तरह के व्यवहार से आपका आत्मसम्मान कम होता जाता है और आप खुद को ही दोष देने लगते हैं।

3. लगातार झगड़े और बेइज़्जती

Advertisment

किसी भी रिश्ते में कभी-कभी मतभेद और झगड़े हो ही जाते हैं। लेकिन टॉक्सिक रिश्तों में हर छोटी-बड़ी बात पर बहस हो जाती है। ये झगड़े इतने बढ़ जाते हैं कि कभी सुलझ ही नहीं पाते। इतना ही नहीं, गुस्से में वो आपको गाली-ग्लौज भी दे सकता है। ऐसी स्थिति में आप रिश्ते में असुरक्षित महसूस करते हैं और हर वक्त डर में रहते हैं।

4. आपकी खुशी को नजरअंदाज करना

स्वस्थ रिश्तों में पार्टनर एक-दूसरे की खुशी का ख्याल रखते हैं। वो एक-दूसरे को सपने पूरा करने में मदद करते हैं और खुशियाँ बांटते हैं। लेकिन टॉक्सिक रिश्तों में आपकी खुशी को कोई मायने नहीं रखता। आपकी उपलब्धियों को वो कमतर आंकता है और आपकी पसंद-नापसंद की कोई फिक्र नहीं करता।

5. आपका अंतर्ज्ञान आपको चेतावनी दे रहा है

कई बार हमारे रिश्तों में कुछ चीज़ें ऐसी हो जाती हैं जिन्हें हम नज़रअंदाज कर देते हैं। लेकिन हमारे अंदर का एहसास, यानी हमारा अंतर्ज्ञान, हमें सही रास्ता दिखाने की कोशिश करता है। अगर आपको लगता है कि आप रिश्ते में खुश नहीं हैं, हर वक्त खुद को संभालना पड़ता है, या फिर आप डरे हुए रहते हैं, तो ये आपके अंतर्ज्ञान की चेतावनी है. इसे नजरअंदाज़ न करें।

relationship आपसी सम्मान का अभाव नियंत्रण की जंग सम्मान
Advertisment