Advertisment

Depression के 5 संकेत जिन्हें आपको कभी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए

डिप्रेशन एक मानसिक समस्या है जो व्यक्ति के जीवन के अन्यत्र क्षेत्रों को प्रभावित कर सकती है। नींद, भूख, सामाजिक जीवन, चिंता और निर्णय से संबंधित संकेत डिप्रेशन के मुख्य पहचानकारक हो सकते हैं।

author-image
Dibya Debasmita Pradhan
New Update
Signs of depression 1

Image Credit: Pinterest

5 Signs Of Depression You Should Never Ignore: डिप्रेशन एक मानसिक समस्या है जो व्यक्ति के जीवन के अन्यत्र क्षेत्रों को प्रभावित कर सकती है। यह न केवल उन्हें आत्मिक और भावनात्मक तौर पर दुखी बना सकती है, बल्कि उनके शारीरिक स्वास्थ्य को भी प्रभावित कर सकती है। नींद, भूख, सामाजिक जीवन, चिंता और निर्णय से संबंधित संकेत डिप्रेशन के मुख्य पहचानकारक हो सकते हैं।

Advertisment

Depression के 5 संकेत जिन्हें आपको कभी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए

1. Difficulty In Experiencing A Healthy Sleeping Pattern 

जब किसी को डिप्रेशन होता है, तो वह अक्सर नींद की कमी या अधिकता का सामना कर सकता है। इसके कारण व्यक्ति को ठीक से आराम नहीं मिल पाता, जो उनकी दिनचर्या और कार्य क्षमता पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकता है। नींद की कमी या अधिकता से व्यक्ति का मनोबल भी कम हो सकता है, जो उन्हें रोजाना कामों को ठीक से नियंत्रित करने में मुश्किल बना सकता है।

Advertisment

2. Loss of Appetite 

डिप्रेशन में, व्यक्ति की भूख कम हो जाती है और वह खाना कम खाने लगता है। यह उनके पोषण को प्रभावित कर सकता है, जिससे उनके शारीरिक स्वास्थ्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। अतिरिक्त भूखहीनता उनकी शक्ति को कम कर सकती है, मांसपेशियों की कमजोरी और ऊर्जा स्तर की गिरावट का कारण बन सकती है। इससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर हो सकती है और सामान्य रोगों के साथ लंबे समय तक लड़ने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है।

3. Social Withdrawal 

Advertisment

जब किसी व्यक्ति को डिप्रेशन होता है, तो वह अकेलापन को अधिक पसंद करता है और सामाजिक गतिविधियों से दूर रहना पसंद करता है। वह अपने दोस्तों और परिवार से मिलने की इच्छा नहीं रखता और अकेले ही रहना पसंद करता है। यह आमतौर पर उसके मन में उबाऊ और निराशा के भावनाओं का परिणाम होता है, जो उसे सोशल इंटरेक्शन से दूरी बनाए रखते हैं। ऐसे समय में उसे संयमित और समर्थन प्रदान किया जाना चाहिए ताकि वह अपनी भावनाओं को साझा कर सके और सहायता प्राप्त कर सके।

4. Constant Overthinking and Stress

डिप्रेशन में, व्यक्ति हमेशा चिंता में रहता है और उसके मन में तनाव होता है। वह अपने भविष्य के बारे में चिंतित रहता है और हर समस्या को अधिक बड़ा बना देता है। डिप्रेशन के दौरान, व्यक्ति का आत्मविश्वास घट सकता है और वह अकेलापन का अनुभव कर सकता है। उसे सामाजिक संवेदनशीलता में कमी का अहसास होता है और वह अपने साथियों या परिवार से अलग महसूस कर सकता है।

5. Confusion and indecisiveness 

डिप्रेशन में, व्यक्ति अस्पष्टता और भ्रम महसूस करता है और सही और गलत के बीच अनिर्णयता महसूस करता है। यह उसके निर्णय लेने की क्षमता को प्रभावित कर सकता है और उसे समस्याओं का सामना करने में मुश्किल हो सकता है। व्यक्ति को सामाजिक, पेशेवर और व्यक्तिगत स्तर पर हताशा और असहजता का अनुभव हो सकता है। इससे उसका दैनिक जीवन प्रभावित हो सकता है और संबंधों में संकट उत्पन्न हो सकता है।

Depression sleeping pattern overthinking loss of appetite social withdrawal confusion
Advertisment