Advertisment

Health & Wellness: मैग्नीशियम की कमी से हो सकती हैं ये 7 स्वास्थ्य समस्याएँ

मैग्नीशियम एक महत्वपूर्ण खनिज है जो शरीर के कई कार्यों के लिए आवश्यक है। इसकी कमी से शरीर और मन पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं। इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और समय पर मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के उपाय करने चाहिए।

author-image
Dibya Debasmita Pradhan
New Update
Low magnesium

Image Credit: Freepik

How Low Magnesium Affects The Body And Mind: मैग्नीशियम एक महत्वपूर्ण खनिज है जो शरीर के कई कार्यों के लिए आवश्यक है। इसकी कमी से शरीर और मन पर कई नकारात्मक प्रभाव पड़ सकते हैं। इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और समय पर मैग्नीशियम की कमी को पूरा करने के उपाय करने चाहिए। संतुलित आहार, जिसमें मैग्नीशियम से भरपूर खाद्य पदार्थ शामिल हों और आवश्यकतानुसार सप्लिमेंट्स लेना महत्वपूर्ण है।

Advertisment

Health & Wellness: मैग्नीशियम की कमी से हो सकती हैं ये 7 स्वास्थ्य समस्याएँ

1. मांसपेशियों में दर्द या क्रैंप्स

मैग्नीशियम की कमी से मांसपेशियों में दर्द और क्रैंप्स हो सकती है। यह खनिज मांसपेशियों के संकुचन और विश्राम में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इसकी कमी से मांसपेशियों में कमजोरी और दर्द महसूस हो सकता है। यह समस्या अक्सर रात में अधिक महसूस होती है, जिससे नींद में भी बाधा आ सकती है।

Advertisment

2. लगातार थकान

मैग्नीशियम की कमी के कारण शरीर को ऊर्जा उत्पादन में कठिनाई हो सकती है, जिससे व्यक्ति को लगातार थकान महसूस हो सकती है। यह थकान किसी भी शारीरिक गतिविधि के बाद और अधिक बढ़ सकती है। इससे व्यक्ति की कार्यक्षमता और उत्पादकता पर भी बुरा असर पड़ता है।

3. कब्ज

Advertisment

मैग्नीशियम की कमी से पाचन तंत्र पर भी प्रभाव पड़ता है, जिससे कब्ज की समस्या हो सकती है। मैग्नीशियम पानी को आंतों में खींचता है, जिससे मल नरम होता है और आसानी से बाहर निकलता है। इसकी कमी से मल कठोर हो जाता है, जिससे कब्ज की समस्या उत्पन्न होती है।

4. सिरदर्द या माइग्रेन

मैग्नीशियम की कमी से सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या भी हो सकती है। यह खनिज नसों और रक्त वाहिकाओं के सही कार्य के लिए आवश्यक है। इसकी कमी से रक्त वाहिकाओं में संकुचन हो सकता है, जिससे सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या बढ़ जाती है।

Advertisment

5. सुन्नता और झुनझुनी

मैग्नीशियम की कमी से नसों पर भी प्रभाव पड़ता है, जिससे शरीर के विभिन्न हिस्सों में सुन्नता और झुनझुनी महसूस हो सकती है। यह लक्षण अक्सर हाथों और पैरों में महसूस होता है। यह संकेत है कि नसों को सही तरीके से संचालित करने के लिए पर्याप्त मैग्नीशियम नहीं मिल रहा है।

6. भूख की कमी या मितली

Advertisment

मैग्नीशियम की कमी से भूख की कमी और मितली की समस्या भी हो सकती है। यह खनिज पाचन तंत्र के सही कार्य के लिए आवश्यक है। इसकी कमी से पाचन प्रक्रिया धीमी हो जाती है, जिससे भूख नहीं लगती और मितली की समस्या उत्पन्न होती है।

7. कैफीन या चीनी की लालसा

मैग्नीशियम की कमी से शरीर में ऊर्जा का स्तर कम हो जाता है, जिससे व्यक्ति को कैफीन या चीनी की लालसा हो सकती है। यह लालसा असल में शरीर की ऊर्जा की आवश्यकता को पूरा करने का संकेत है। कैफीन और चीनी से तत्काल ऊर्जा मिलती है, लेकिन यह समस्या का समाधान नहीं है।

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

माइग्रेन health & wellness लगातार थकान मांसपेशियों में दर्द झुनझुनी भूख की कमी
Advertisment