Advertisment

Vaginal Self Exam: वजाइना को घर पर ऐसे करें एग्जामिन

सेल्फ ब्रेस्ट एग्जाम के बारे में सभी ने सुना है लेकिन वजाइनल सेल्फ एग्जाम क्या होता है? सबसे पहले आपको इस बात को जानना होगा कि वजाइनल सेल्फ एग्जाम भी सेल्फ ब्रेस्ट एग्जामिनेशन जितना ही महत्वपूर्ण होता है।

author-image
Rajveer Kaur
New Update
vagina

(Image Credit: Youtube)

Vaginal Self Exam: सेल्फ ब्रेस्ट एग्जाम के बारे में सभी ने सुना है लेकिन वजाइनल सेल्फ एग्जाम क्या होता है? यह कैसे किया जाता है? इसे करते समय हमें कौन सी चीज अपने दिमाग में रखनी चाहिए? सबसे पहले आपको इस बात को जानना होगा कि वजाइनल सेल्फ एग्जाम भी सेल्फ ब्रेस्ट एग्जामिनेशन जितना ही महत्वपूर्ण होता है।  इसके बारे में इसलिए जानना जरूरी है क्योंकि अगर आपके वजाइना में कुछ ऐसे बदलाव हो रहे हैं जो आमतौर पर नहीं होते हैं तो आपको उनके बारे में पता रहे। यह गाइनेकोलॉजिस्ट की तरफ से किया जाने वाले पेल्विक एग्जाम जितना डीप नहीं होता है लेकिन इससे आप एसटीडी के लक्षण या फिर आपके वजाइना में क्या बदलाव हो रहे हैं और अन्य बीमारियों के बारे में पता लगा सकते हैं। 

Advertisment

वजाइना को घर पर ऐसे करें एग्जामिन

आप अपने नीचे के कपड़े उतार कर बेड पर बैठ जाएं या फिर टॉवल और फ्लोर पर भी वॉल के सामने बैठ सकते हैं जिसमें आप पिलो को सपोर्ट में रख सकते हैं। इसके बाद आप अपने लेग्स को स्प्रेड कर ले और खुद की बॉडी को रिलैक्स करें। इसके बाद आप अपने वल्वा के पार्ट्स जैसे क्लिटोरिस आउटर और इनर लीबिया को चेक करें। इसके साथ ही आप इस बात को भी नोट करें कि आपका हर पार्ट का कलर और साइज क्या है। अगर आपको कुछ भी चेंज दिखाई दे रहा है तो तुरंत उसे नोट करें। इसके साथ ही आप अपने वजाइनल डिसचार्ज को नोटिस करें जो आमतौर पर रॉ एग के प्रोटीन जैसा होता है और इसका रंग क्लॉउडी व्हाइट होता है। 

अगर आपके डिस्चार्ज में फिश जैसी स्मेल आ रही है तो आपको बैक्टीरियल वेजिनोसिस (Bacterial Vaginosis) हो सकता है। अगर डिस्चार्ज का खुजली के साथ थिक टेक्सचर है और कॉटेज चीज जैसा लग रहा है तो यह वजाइनल थ्रश (Vaginal Thrush)हो सकता है। अगर डिस्चार्ज ग्रीन, येलो या फिर फ्रॉथी है तो इसका मतलब है कि आपको ट्राइकोमोनिएसिस (Trichomoniasis) है जो एक STI है। अगर डिस्चार्ज के साथ पेल्विक पेन या फिर ब्लीडिंग हो रही है तब आपको क्लैमिडिया (Chlamydia) या फिर गोनोरिया हो सकता है। वजाइना के आसपास सोरनेस, इचिंग या फिर स्वेलिंग होना वैजिनाइटिस (Vaginitis) और एक्जिमा का लक्षण हो सकता है। अगर आपके वजाइना के आसपास सोर है तो यह जेनिटल हर्पीज़ हो सकता है। अगर कोई भी ग्रोथ या लम्प दिखाई दे रहे हैं तो यह जेनिटल वार्ट्स या फिर बारथोलिन सिस्ट हो सकता है। 

Advertisment

इसके साथ ही अगर आपके स्मेल के साथ ब्लड स्टैनड डिस्चार्ज हो रहा है और इसके साथ ही इर्रेगुलर ब्लीडिंग और पेशाब के वक्त दर्द भी होता है तब आपको वजाइनल कैंसर हो सकता है। 40 साल की महिलाओं में यह बहुत रेयर होता है लेकिन आपको इसके बारे में अवेयर रहना चाहिए। वजाइनल सेल्फ एग्जाम से आपको इन बीमारियों के खतरे के बारे में पहले पता लग सकता है। अगर आप पहले ही इनके बारे में जान लेंगे तो इन्हें जल्दी ही ठीक किया जा सकता है और ऐसे में आपको तुरंत अपने गाइनेकोलॉजिस्ट से संपर्क करना चाहिए। 

Disclaimer: इस प्लेटफॉर्म पर मौजूद जानकारी केवल आपकी जानकारी के लिए है। हमेशा चिकित्सा या स्वास्थ्य संबंधी निर्णय लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से सलाह लें।

Trichomoniasis Vaginal Self Exam STI Vaginitis chlamydia
Advertisment