Important Tips To Enjoy Diwali: दिवाली के त्यौहार को सुरक्षित कैसे बनाएं

Important Tips To Enjoy Diwali: दिवाली के त्यौहार को सुरक्षित कैसे बनाएं Important Tips To Enjoy Diwali: दिवाली के त्यौहार को सुरक्षित कैसे बनाएं

SheThePeople Team

30 Oct 2021


Important Tips To Enjoy Diwali Safely:  त्यौहारों का मौसम आ गया है और लोग छुट्टी के मूड में हैं। शॉपिंग के बिना सभी त्यौहार अधूरे लगते हैं। महामारी के कारण पिछले साल कई लोग अपने घरों से बाहर नहीं निकले थे। लोगों ने ऑनलाइन शॉपिंग का माध्यम इस्तमाल किया था त्यौहारों का सामान खरिदने के लिए। हालांकि इस साल स्थिति कुछ अलग नजर आई। कोविड के मामलों में गिरावट के कारण कई लोगों ने अपने घरों से बाहर कदम रखा। जिसके कारण कोविड के नियमों का पालन नजर आता नहीं दिखा।

सभी लोगों के घरों में दिवाली की तैयारी जोरों पर है लेकिन इस बात का ध्यान रखें की कोविड अभी पूरी तरह गया नहीं है। इसलिए त्यौहार को सुरक्षित, स्वस्थ और जिम्मेदार तरीके से बिताएं। 

भीड़ के वजह से कॉविड के मामलों में बढ़ोत्तरी नजर आई - 

दिवाली पर्व का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। दिवाली सभी लोगों को एक दूसरे के करीब लाती है। दिवाली की शॉपिंग के लिए इस साल ज्यादातर लोग अपने घरों से बाहर निकल रहे हैं जिसके कारण कोविड की तीसरी लहर संभव है। भीड़ में अक्सर लोग कोविड के नियमों का पालन करना भूल जाते हैं क्योंकि लोगों को सामान खरीदने की जल्दी होती है। 

सुरक्षित तरीके से दिवाली का आनंद लेने के लिए 5 महत्वपूर्ण टिप्स 


1. सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करें

दिवाली का त्यौहार बुराई पर अच्छी की जीत के लिए मनाया जाता है। इस त्यौहार में लोग एक दूसरे के करीब आते हैं, अपनों के साथ समय बिताते हैं। पिछले कुछ सालों से कोविड की वजह से लोग एक दूसरे के घर नहीं जा पाते लेकिन इसका यह मतलब नहीं है की आपका एक दूसरे के लिए प्रेम खतम हो जायेगा। कोविड के तिसरी लहर कभी भी आ सकती है इसलिए अपनी और अपनो की सुरक्षा के लिए कोविड के नियमों का पालन करें। अगर आप किसी भी काम से बाहर जाते हैं तो मास्क पहन कर जाएं और सोशल डिस्टेंसिंग फॉलो करें। 

2. सैनिटाइज़र का इस्तमाल आग जलाते समय न करें

कोविड के बाद सैनिटाइज़र का इस्तमाल काफी बढ़ गया है जो की एक अच्छी बात है। सैनिटाइज़र अत्यधिक इंफ्लेमेबल होते हैं और तुरंत आग पकड़ सकते हैं जिससे गंभीर आग का खतरा हो सकता है। इसलिए दिया और मूमबत्ती जलाने से पहले सैनिटाइज़र का इस्तमाल न करें खासकर जिनमे एल्कोहल की मात्रा ज्यादा होती है। आग का कोई भी काम करना हो तो हमेशा हाथों को पानी से धोएं, सैनिटाइज़र का इस्तमाल न करें। 

3. पटाखे न जलाएं

दिवाली के त्यौहार पर लोगों को पटाखे जलाना बहुत पसंद होता है। किसी भी प्रकार का पटाखा जलाना वायु प्रदूषण को बढ़ावा देगा और वैसे ही भारत में प्रदूषण काफी बुरा है। पटाखे जलाने से न सिर्फ प्रदूषण बढ़ेगा बल्कि हमारा स्वास्थ्य भी खराब होगा। पठाखे का धुआं हमारी इम्यूनिटी को कमजोर बनाता है जिसकी वजह से अस्थमा, लग की बियामरी, एलर्जी आदि की परेशानी बढ़ सकती है। पटाखे जलाने से कोविड का खतरा भी बढ़ सकता है। इसलिए इस साल एक इको फ्रेंडली दिवाली मानने का वादा करें न केवल अपने लिए बल्कि पूरे देश के लिए। 

4. पौष्टिक आहार खाएं 

दिवाली के त्यौहार में लोग स्वादिष्ट भोजन जैसे मिठाई और स्नैक्स को शामिल करके उत्सव का जश्न मनाते हैं। आज के दौर में हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से जूझ रहा है। त्यौहारों का मज़ा लेने के साथ साथ आपको अपनी सेहत का ख्याल रखना चाहिए। इसलिए अपनी डाइट में पौष्टिक आहार डालें जैसे फ्रूट्स, हरी सब्जियां, ड्राई फ्रूट्स  आदि। इसके साथ ही पानी भी पीते रहे ताकि आपके शरीर में पानी की कमी न हो क्योंकि पानी की कमी की वजह से मानव शरीर को सबसे ज्यादा परेशानी होती है। 

5. सही कपड़े पहने 

दिवाली के त्यौहार पर लोग नए कपड़े खरीदते हैं। दिवाली के दौरान अच्छे कपड़े पहनना, तैयार होना सबको पसंद है लेकिन सुरक्षित रूप से तैयार होना हमेशा महत्वपूर्ण होता है। आजकल के फैशन के दौर में लोग अक्सर शिफॉन, जॉर्जेट, साटन और सिल्क के कपड़े पहनना पसंद होता है। लेकिन ये कपड़े आग के संक्रमण में जल्दी आते हैं। इसलिए हमेशा कॉटन के कपड़े पहनने का सुझाव दिया जाता है।

इसके साथ ही क्योंकि आजकल डेंगू काफी बढ़ गया है इसलिए पूरे कपड़े पहनने चाहिए ताकि डेंगू का मच्छर आपको काटे न। त्यौहारों के मौसम में अपनी सेफ्टी का ध्यान जरूर रखना चाहिए।

 




अनुशंसित लेख