”एक महिला का आत्मनिर्भर होना काफी ज़रूरी है”: ट्विंकल खन्ना

Twinkle Khanna

”एक महिला को खुद को छोड़कर किसी पर भी भरोसा करने की या किसी के सहारे रहने की कोई जरूरत नहीं है। उसे आत्मनिर्भर बनना चाहिए ताकि ज़िन्दगी जो चाहे खेल खेले , आप अकेले उसका सामना करने के लिए हमेशा तैयार रहें।” – Twinkle Khanna

Read More
नवीन पटनायक महिला शक्तिकरण
Read More

ऐसे 10 मौकें जब नवीन पटनायक ने महिला शक्तिकरण को बढ़ावा दिया

ओडिशा सरकार ने Startup Odisha initiative के तहत काफी महिलाओं को अपना बिज़नेस शुरू करने के लिए प्रेरित किया। इसका मकसद ओडिशा को टॉप 3 स्टार्टअप डेस्टिनेशन में से एक बनाना है।

Read More

क्या औरतें कभी अपने Sexual Desires को खुल कर ज़ाहिर कर पाएंगी?

जैसा कि हम सब जानते हैं कि आज भी काफी लोगों द्वारा लड़कियों के संस्कार और उसकी प्योरिटी का प्रमाण उसके रहन-सहन और बात करने के तौर-तरीकों पर दिया जाता हैै। ऐसे में अगर कोई लड़की अपनी सेक्शुअल फीलिंग्स शेयर करती है या उस पर बात करती है तो उसके करेक्टर पर लोग अपनी बेबुनियाद राय रखने ही लगते है।

Read More
मर्दों के लिए पितृसत्ता के नुकसान
Read More

हम लड़को को बेसिक काम करने के लिए हीरो बनाना कब बंद करेंगे?

हमारे देश में हर दिन, हर 16 मिनट में एक रेप की घटना घटती है। ऐसे में भी हम लड़कियां लड़को को बेसिक काम करने पर हीरो बना देती हैं। हम उन लोगों को थेंक्स करते हैं जो लड़के और लड़कियों में भेदभाव नही करतें। लेकिन क्यों? हमारे पास समानता का अधिकार (Right to Equality) हैं। भेदभाव न करके कोई हम पर एहसान नही कर रहा है।

Read More
बॉलीवुड फेमिनिस्ट पुरुष किरदार
Read More

बॉलीवुड के ऐसे पांच पुरुष किरदार जो फेमिनिज्म को सपोर्ट करते हैं

फिल्म दिल धड़कने दो में फरहान एक straight forward journalist का रोल प्ले कर रहे हैं। फरहान जो एक फेमिनिस्ट भी हैं वो फिल्म की हीरोइन आयशा को बहुत पसंद करते हैं और उनका कैरक्टर वीमेन एम्पावरमेंट (women empowerment ) को भी सपोर्ट करता है

Read More
Read More

जानिए नवम्बर के महीने में किन किन प्रमुख महिलाओं को गूगल डूडल द्वारा सम्मानित किया गया

नवंबर के महीने में सर्च इंजन गूगल ने अपने डूडल के द्वारा ४ ऐसी महिलाओं को सम्मानित किया जिन्होंने भारत…

Read More

हमारे बारे में

शीदपीपल.टीवी भारत का पहला महिला-केंद्रित मीडिया प्लेटफार्म है. हम महिलाओं की जर्नी, और उनकी कहानियों को बढ़ावा देने के लिए समर्पित हैं. हम उन्हें एक ऐसे अद्बुद्ध नेटवर्क से जोड़ते हैं जो उन्हें सशक्त बनाता है,उन्हें प्रेरित करता है और उन्हें आगे बढ़ने का बढ़ावा देता है।

भारत में प्रत्येक गुज़रते साल के साथ महिलाएं ऑनलाइन आ रही हैं. उन्हें एक ऐसे प्लेटफार्म की ज़रुरत है जो उन्हें समझ पाए. हम उन महिलाओं से जुड़ते हैं जो नए विचारों और प्रेरणा के साथ दुनिया को समृद्ध करते हैं.

पुरस्कार विजेता पत्रकार शैली चोपड़ा द्वारा स्थापित, शीदपीपल.टीवी वो आवाज है जो भारतीय महिलाओं को आज चाहिए।